शेयर मार्केट और कमोडिटी मार्केट में क्या अंतर है

शेयर मार्केट और कमोडिटी मार्केट में क्या अंतर है

शेयर मार्केट और कमोडिटी मार्केट में क्या अंतर है :-

शेयर बाजार और कमोडिटी बाजार दो अलग-अलग वित्तीय बाजार हैं जहां विभिन्न वित्तीय संपत्तियों की खरीद-बिक्री होती है। इन बाजारों में कारोबारी अपने पैसे को निवेश करके मुनाफा कमाने का प्रयास करते हैं। हालांकि, शेयर बाजार और कमोडिटी बाजार में अंतर होता है। चलिए, हम इन दोनों वित्तीय बाजारों के अंतर को विस्तार से समझते हैं।

शेयर बाजार एक ऐसा बाजार है जहां शेयरों की खरीद-बिक्री होती है। शेयर एक कंपनी की संपत्ति के एक छोटे टुकड़े को प्रतिष्ठित करता है। यह बाजार उन लोगों को संगठित करता है जो शेयरों को खरीदकर बेचते हैं। ये शेयर उपयोगकर्ताओं को कंपनी के मालिकाने में हिस्सेदारी प्रदान करते हैं। शेयर बाजार में शेयरों के मूल्य उच्च और निम्न होते रहते हैं और इसका मूल उद्देश्य कंपनियों को नया पूंजी का संचय करने में सहायता करना है। शेयर बाजार में मुख्यतः दो प्रकार के शेयर पाए जाते हैं – न्यूनतम रुपये के शेयर (स्मॉलकैप) और अधिकतम रुपये के शेयर (लार्जकैप)।

वहीं, कमोडिटी बाजार एक बाजार है जहां कमोडिटीज जैसे सोना, चांदी, तांबा, गहुं आदि की खरीद-बिक्री होती है। ये सामान्य रूप से प्राकृतिक संसाधनों से उत्पन्न होते हैं और उत्पादित तथा खाद्य पदार्थों में प्रयोग होते हैं। कमोडिटी बाजार शामिल आंतर्रष्ट्रीय और राष्ट्रीय बाजारों को शामिल करता है और उपयोगकर्ताओं को विभिन्न कमोडिटीज पर निवेश करने की सुविधा प्रदान करता है।

See More – ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है

शेयर बाजार और कमोडिटी बाजार में कुछ मुख्य अंतर हैं…

संदर्भ – शेयर बाजार में निवेशकों का मुख्य ध्यान कंपनीयों के शेयरों पर होता है, जबकि कमोडिटी बाजार में निवेशकों का मुख्य ध्यान कमोडिटीज पर होता है। शेयर बाजार में निवेश कंपनी के विकास और उनके लाभ के आधार पर होता है, जबकि कमोडिटी बाजार में निवेश कमोडिटीज के मूल्य पर होता है जो आपूर्ति और मांग के कारणों पर निर्भर करता है।

प्रभाव – शेयर बाजार में उच्च लिक्विडिटी और आंतरिक और बाहरी घटकों के प्रभाव से शेयरों के मूल्य में परिवर्तन होता है। वहीं, कमोडिटी बाजार में मूल्य आपूर्ति और मांग के आधार पर प्रभावित होता है, जैसे कि मौसम, वित्तीय घटक, और भारतीय और विदेशी नीतियों का प्रभाव।

जोखिम – शेयर बाजार में निवेश करने का जोखिम अधिक हो सकता है क्योंकि कंपनियों के शेयरों की कीमतें बाजार के प्रभावों, निर्देशिका कारकों और कंपनी के अंदरूनी हालात के आधार पर परिवर्तित हो सकती हैं। कमोडिटी बाजार में निवेश करने का जोखिम भी उच्च होता है, लेकिन यह आंतर्रष्ट्रीय और राष्ट्रीय घटकों, मौसम, उत्पादन और आपूर्ति, और गलती के आंकड़ों के प्रभाव पर निर्भर करता है।

See More – कमोडिटी ट्रेडिंग क्या है

ट्रेडिंग का ढांचा – शेयर बाजार में प्रमुखतः आदेश खरीदने और बेचने के माध्यम से निवेश किया जाता है, जबकि कमोडिटी बाजार में वाणिज्यिक वाणिज्यिक या फ्यूचर्स के माध्यम से निवेश किया जाता है। कमोडिटी बाजार में विभिन्न मानक और नियम व्यापार और पंजीकरण के आधार पर होते हैं।

अवधारणा की प्रकृति – शेयर बाजार में निवेशक बाजार की अवधारणाओं के आधार पर निवेश करते हैं, जैसे कि शेयरों की नवीनतम कीमतों का विश्लेषण, कंपनी के आंकड़ों का मूल्यांकन, और मार्केट के चलन का अनुमान लगाना। कमोडिटी बाजार में निवेशकों की नीतियों के आधार पर निवेश किया जाता है, जैसे कि वाणिज्यिक आंकड़ों, मौसम रिपोर्टों, और संयुक्त राष्ट्र की नीतियों का अध्ययन।

See More – कमोडिटी ट्रेडिंग कैसे सीखें

नियामक संगठन – शेयर बाजार में नियामक संगठन द्वारा नियमित किए गए नियम और विनियम होते हैं जो निवेशकों की सुरक्षा और बाजार की निष्पक्षता सुनिश्चित करते हैं। कमोडिटी बाजार में भी नियामक संगठन द्वारा नियम और विनियम होते हैं, जो निवेशकों के सुरक्षा और व्यापार की निष्पक्षता सुनिश्चित करते हैं।

लिक्विडिटी – शेयर बाजार में लिक्विडिटी अधिक होती है क्योंकि शेयरों के लिए बाजार में विभिन्न खरीददारों और विक्रेताओं की उपस्थिति होती है। कमोडिटी बाजार में भी लिक्विडिटी मौजूद होती है, लेकिन यह कम वित्तीय उपकरणों के कारण अधिकतम लिक्विडिटी नहीं होती है।

See More – कमोडिटी मार्केट में ट्रेडिंग कैसे होती है

इस रूपरेखा के माध्यम से हम देख सकते हैं कि शेयर बाजार और कमोडिटी बाजार दोनों में विभिन्नताएं होती हैं। शेयर बाजार अधिक रिस्क और मार्जिन का माध्यम होता है जबकि कमोडिटी बाजार में भी रिस्क होता है, लेकिन यह रूपांतरण और मार्जिन की अवधारणा कम होती है। निवेशकों के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वे अपनी वित्तीय लक्ष्यों, नीतियों और आवश्यकताओं के आधार पर शेयर बाजार और कमोडिटी बाजार में निवेश का निर्णय लें।

Trading and Technical Analysis बुक को ख़रीदे और सीख कर Share Market & Option Trading में सफलता पाइएhttps://amzn.to/46aJ7J5

—————————————————————————————————————-

Share Market & Option Trading में इन्वेस्टमेंट करने के लिए एक Demat Account की जरुरत होती है ..

Top 5 Broker Demat Account  Link : 

1. Angel one – https://angel-one.onelink.me/Wjgr/9it9p151

2. Upstoks – https://link.upstox.com/ce8Q

3. Groww – https://app.groww.in/v3cO/8u4d4bfm

4. 5Paisa – https://5paisa.page.link/uEXbMp9BxoRjjRvy7

5. M.Stocks – https://ekyc.miraeassetcm.com/Register-with-us?ref=REF161521%26refsrc=2

3 thoughts on “शेयर मार्केट और कमोडिटी मार्केट में क्या अंतर है”

  1. Pingback: कमोडिटी ट्रेडर्स क्या ट्रेड करते हैं

  2. Pingback: कमोडिटी ट्रेडिंग में नुकसान से कैसे बचें

  3. Pingback: क्या कमोडिटी इक्विटी से बेहतर है

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *