बुक प्रॉफिट और स्टॉप लॉस: जब आपका निवेश लाभ कर रहा होता है, तो लाभ को बुक करना न भूलें। साथ ही, अगर बाजार बिगड़ता है तो स्टॉप लॉस आदेश का उपयोग करें ताकि नुकसान कम हो

ज़रा बहुत: इंट्राडे ट्रेडिंग में एक ही दिन में कई विपणन करने की प्रवृत्ति न बनाएं। जितने ज्यादा विपणन, उतने ही अधिक रिस्क

टेक्निकल और फंडामेंटल एनालिसिस: शेयर बाजार के गतिविधियों को गहराई से अध्ययन करें, तकनीकी और मौद्रिक एनालिसिस का उपयोग करें और समाचार के प्रभाव को समझें

रिस्क प्रबंधन: इंट्राडे ट्रेडिंग में बड़ा रिस्क होता है, इसलिए आपको अपने निवेशों को संयंत्रित करना और नियमित अंगड़ियों का पालन करना चाहिए

विपणन योजना: एक सटीक विपणन योजना बनाएं और इसे आजमाएं। यह योजना आपको बताएगी कि कब, कैसे, और कितना विपणन करना है

विचारशीलता: बाजार में होने वाली ताज़ा घटनाओं और घटनाओं के साथ रहें, और निवेश के निर्णय लेने से पहले उनका पूरा विचार करें

विश्वसनीय डेमो खाता: इंट्राडे ट्रेडिंग की अभ्यास करने के लिए एक विश्वसनीय डेमो खाता खोलें और इसमें पैसे न लगाते हुए वास्तविक बाजार के अनुभव का प्रयास करें

शिक्षा: पहले आपको ट्रेडिंग के मूल तथ्यों को समझना होगा। इंट्राडे ट्रेडिंग के नियम, तकनीक, और विभिन्न वित्तीय उपकरणों के बारे में ज्ञान प्राप्त करें