ऑप्शन ट्रेडिंग में आप एक वित्तीय उपकरण की खरीददारी अधिकार की निवेश करते हैं, जिसे विशिष्ट मूल्य और समय सीमा के अंदर उपयोग करने के लिए मिलता है

कॉल ऑप्शन और पुट ऑप्शन दो प्रमुख प्रकार के ऑप्शन होते हैं, जिनमें कॉल ऑप्शन में आपके पास खरीददारी करने का अधिकार होता है, जबकि पुट ऑप्शन में आपके पास बेचने का अधिकार होता है

आपका लक्ष्य ऑप्शन के मूल्य में परिवर्तन को पूर्वानुमान करना होता है ताकि आप प्रॉफिट कमा सकें

ऑप्शन ट्रेडिंग के लिए विशिष्ट वित्तीय ज्ञान और अनुभव की आवश्यकता होती है, और यह विपणनीय जोखिमों के साथ आता है

आपको अपने लक्ष्य और जोखिम स्तर के आधार पर ऑप्शन का चयन करना होता है

ट्रेडिंग के लिए एक वित्तीय ब्रोकर का सहायता लेना होता है, जो आपको विभिन्न ऑप्शन विचारों के साथ मार्केट डेटा प्रदान करता है

आपको ऑप्शन के मूल्य और समय मूल्यन की गणना करनी होती है, जिससे आपके लिए सही विचार बना सके

स्टॉक्स, इंडेक्स, वैल्यू, और कमोडिटीज के ऊपर ऑप्शन ट्रेडिंग किया जा सकता है