अच्छे जानकारी: अपनी वित्तीय जानकारी को मजबूत करें और ऑप्शन ट्रेडिंग के बारे में अच्छा समझें।

विनियमित प्रशिक्षण: ट्रेडिंग के क्षेत्र में नियमित शिक्षा और प्रशिक्षण प्राप्त करें

वित्तीय योजना: आपकी वित्तीय योजना को ध्यान से तैयार करें, और निवेश की रिक्ति, लाभ, और हानि की संभावित स्थितियों का आकलन करें

लागत के साथ संवाद: वित्तीय योजना में लागत को संवादित रूप से देखें और वित्तीय खतरों का सामय समय पर मूल्यांकन करें

रिस्क प्रबंधन: रिस्क प्रबंधन के लिए संयमित निष्क्रिय और सक्रिय उपायों का उपयोग करें

लॉट साइज़: ट्रेड के लिए सही लॉट साइज़ का चयन करें, जिससे आपकी पूंजी की सुरक्षा बनी रहे

ट्रेडिंग प्लेन: हर ट्रेड के पहले एक ट्रेडिंग प्लेन बनाएं जिसमें निष्क्रिय और सक्रिय नियमों का वर्णन हो

लाभ-हानि अनुमान: प्रत्येक ऑप्शन व्यापार के पूर्व लाभ और हानि की संभावित स्थितियों का अनुमान लगाएं