शेयर बाज़ार कब शुरू हुआ

भारत में शेयर बाज़ार का आरंभ 18वीं सदी के आसपास हुआ था, जब होग कॉर्पोरेशन के शेयर्स की विपणी शुरू हुई

पहला बड़ा शेयर बाज़ार मुंबई (बॉम्बे) में 1875 में शुरू हुआ था, जिसे "बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज" कहा जाता है 

1913 में, भारतीय शेयर बाज़ार को कानूनी मान्यता मिली और "बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज" को भारतीय स्टॉक एक्सचेंज (BSE) के नाम से पुनर्निर्माण किया गया 

Fill in some text

1994 में, नई दिल्ली में निफ्टी-50 के साथ "नेशनल स्टॉक एक्सचेंज" (NSE) शुरू हुआ, जिससे भारतीय शेयर बाज़ार में मोटी बदलाव आया

आज, भारतीय शेयर बाज़ार निफ्टी और सेंसेक्स के इंडेक्स के साथ विश्व के प्रमुख शेयर बाज़ारों में से एक है 

यह वित्तीय पूंजी का महत्वपूर्ण हिस्सा है और भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

शेयर बाज़ार ने भारतीय विनिवेशकों को एक माध्यम प्रदान किया है जिसके माध्यम से वे पूंजी निवेश कर सकते हैं और वित्तीय विकास को समर्थन दे सकते हैं 

Fill in some text

इसके अलावा, शेयर बाज़ार ने नौकरियों के साथ-साथ वित्तीय स्वतंत्रता को भी बढ़ावा दिया है और व्यापारिक उत्कृष्टि को प्रोत्साहित किया है

इसलिए, भारतीय शेयर बाज़ार ने देश की आर्थिक समृद्धि में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और यह हर किसी के लिए उपलब्ध है जो निवेश करने का इरादा रखता है