समय प्रबंधन: ट्रेडिंग को समय सीमित रखें और नियमित अभ्यास करें

मानसिक तत्व: अपने भविष्य की चिंता न करें और मानसिक स्थिति को साफ रखें

सीमित ट्रेडिंग: ज्यादा ऑप्शन्स की ट्रेडिंग से बचें और सीमित और चयनित ट्रेडिंग करें

अद्यतन रहें: वित्तीय बाजार की स्थिति और विशेषज्ञता के साथ अपडेट रहें

रिस्क प्रबंधन: रिस्क को संभालें और अपने निवेशों को सुरक्षित रखने के लिए स्टॉप-लॉस आदि का उपयोग करें

पैसे का प्रबंधन: अपने विनिवेश की सीमा तय करें और पैसे का सावधानीपूर्वक प्रबंधन करें

विश्वासी योजना: एक स्ट्रैटेजी योजना तैयार करें और उसे विश्वसनीयता के साथ अनुसरण करें

शिक्षा और जानकारी: ऑप्शन ट्रेडिंग के मूल तत्वों को समझने के लिए शिक्षा प्राप्त करें और अपनी जानकारी को बढ़ाएं